Friday, May 17, 2024
HomeACB15 माह पहले सांचौर का राकेश एलडीसी बना, पैसे कमाने की लालच...

15 माह पहले सांचौर का राकेश एलडीसी बना, पैसे कमाने की लालच में रिश्वत लेनी शुरू की, एसीबी ने पकड़ा

– कोयला ठेकेदार से टेम्परेरी परमिशन जारी करने की एवज में 7500 रुपए की ली घूस

सिरोही.सिरोही तहसील कार्यालय में कार्यरत्त कनिष्ठ लिपिक राकेश पुनिया रिश्वत कोयला परिवहन के लिए टीपी जारी करने की एवज में ठेकेदार से 7500 रुपए की रिश्वत लेते सिरोही एसीबी टीम ने शुक्रवार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी एलडीसी ने एसीबी को बताया कि एक हजार रुपए तहसीलदार व पांच सौ रुपए खुद के लिए मांगे। इस मामले में एसीबी तहसीलदार से भी पूछताछ करेगी। एसीबी के एएसपी नारायण सिंह राजपुरोहित ने बताया कि पाली जिले के कोलीवाडा सुमेरपुर निवासी हीराराम पुत्र लच्छाराम देवासी व हवाला गली सुमेरपुर निवासी राजेंद्र कुमार पुत्र धनराज जैन ने शिकायत की थी कि उन्होंने जावाल निवासी पंकु बाई पत्नी हंसाराम घांची के 1.9800 हेक्टयर खेत में अंग्रेजी बबूल को काट कर कोयला बनाने का एग्रीमेंट 51 हजार रुपए में किया है। कोयला बनाने के बाद उसे दूसरे जिले में भेजने के लिए परिवहन अनुमति तहसील कार्यालय सिरोही से टीपी बनवानी होती है। इसके के लिए 25 व 27 जून को तहसील कार्यालय के एलडीसी राकेश कुमार पुनिया को प्रार्थना पत्र दिया। राकेश कुमार ने एक हजार रुपए प्रति टीपी चालान से बैंक में जमा करवाने के बाद उक्त चालान राशि के अलावा प्रति टीपी 1500 रुपए अलग से खर्चा-पानी के लिए मांग की थी। एसीबी ने शिकायत का सत्यापन करने के बाद एएसपी नारायण सिंह राजपुरोहित के नेतृत्व में शुक्रवार दोपहर करीब 3 बजे ट्रेप किया।

रजिस्टर में रखवाए 7500 रुपए, इतनी ही राशि पहले भी ले चुका

पांच टीपी के 7500 रुपए 6 जुलाई को देकर सत्यापन करवाया। इसमें दो टीपी एलडीसी ने उसी समय दे दी, जबकि शेष टीपी बाद में देने का कहा। पांच और टीपी जारी करने के लिए चालान बना कर दिए। इस पर 8 जुलाई को चालान जमा करवा कर शुक्रवार को परिवादी से रिश्वत राशि 7500 रुपए अपनी टेबल पर रखे नकल रजिस्टर में रखवाए और पूर्व की बकाया 3 टीपी उसे सौंप दी। इस पर परिवादी के गोपनीय इशारा करने पर राकेश पुनिया को उसके कार्यालय कक्ष में सीट पर बैठे हुए को पकड़ कर उनकी कार्यालय टेबल पर रखे नकल रजिस्टर से रुपए बरामद किए।

15 माह पहले ही लगी थी नौकरी

d 15 माह पहले सांचौर का राकेश एलडीसी बना, पैसे कमाने की लालच में रिश्वत लेनी शुरू की, एसीबी ने पकड़ा jalore news

पमाणा सांचौर निवासी एलडीसी राकेश पुनिया को लगे केवल 15 महीने हुए थे। उनको 2018 एलडीसी भर्ती में चयन हुआ। 15 माह से सिरोही के तहसील कार्यालय में नौकरी पर लगा था। जल्द पैसे कमाने के लालच में रिश्वत लेनी शुरू कर दी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

latest news

आज 15 राज्यों में बारिश का अलर्ट

मानसून धीरे-धीरे पूर्वी और मध्य भारत के राज्यों को भिगो रहा है। यूपी, बिहार, एमपी, राजस्थान, पश्चिम बंगाल समेत देश के 15 राज्यों में...

मानसून :अगस्त खत्म होने को है सामान्य से 33% कम बारिश

अगस्त 120 साल में सबसे सूखा: सामान्य से 33% कम बारिश; सितंबर में 10 दिन तक आखिरी मानसून की बारिश होने की संभावना है अगस्त खत्म होने...

Gold Price Today अपडेटेड: 31 अगस्त 2023

Gold Price Today अपडेटेड: 31 अगस्त 2023 भारत में आज सोने की कीमतें 22k के लिए ₹ 5,431 प्रति ग्राम हैं, जबकि 24k के...

जिले में नाबालिग बच्चियों से दुराचार और उनको गर्भवती बनाने के मामले लगातार बढ़ रहे

पाली जिले में नाबालिग बच्चियों से दुराचार और उनको गर्भवती बनाने के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 15 साल की अनाथ लड़की से एक...

सांचौर का देवासी हत्याकांड • जेल में प्रकाश की साज़िश, मुकेश ने विष्णु से जुटाए शूटर, कई आरोपी हैं इसमें शामिल

25 लाख रुपए देकर हरियाणा से लाए थे शूटर, रैकी करने वाला तगसिंह गिरफ्तार, मुकेश अभी भी फरार सांचौर लक्ष्मण देवासी हत्याकांड मामले में पुलिस...

पत्नी के चरित्र पर शक बना हत्या का कारण दोनों आरोपी भाई गिरफ्तार

 पति व चचेरे भाई ने नींद की गोलियां खिलाई, तकिए से मुंह दबा की थी हत्या जालोर 05 अगस्त को बागोड़ा के धुंबड़िया गांव में...

Trending

​​​​​​ जिले में 24 घंटे से बारिश का दौर जारी

जालोर जिले में 24 घंटे से बारिश का दौर जारी है। कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश होने से शहर में कई कॉलोनियों में...

‘आदिपुरुष’ पर हाई कोर्ट ने कहा, फिल्म को पास करना गलती: कोर्ट ने कहा, झूठ के साथ कुरान पर डॉक्यूमेंट्री बनाएं, फिर देखें...

आदिपुरुष इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने बुधवार को लगातार तीसरे दिन फिल्म 'आदिपुरुष' के आपत्तिजनक डायलॉग्स पर सुनवाई की. कोर्ट ने कहा कि...
error: Content is protected !!