Friday, May 17, 2024
Homeचुनावसांचौर की राजनीति में परिवारवाद का अब तक प्रभाव नहीं : तीन...

सांचौर की राजनीति में परिवारवाद का अब तक प्रभाव नहीं : तीन विधायकों के बाद अब वर्तमान विधायक के पुत्र ने भी राजनीति में आने का लिया निर्णय 

– डॉ. भूपेन्द्र विश्रोई ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर नौकरी को छोड़ते हुए पिता के साथ काम करने की बात कही 
सांचौर. 
सांचौर की राजनीति में एक बार फिर परिवारवाद की एंट्री हो चुकी हैं। लेकिन, इतिहास रहा हैं कि कांग्रेस व भाजपा दोनों पार्टियों में सांचौर की राजनीति में परिवार के सदस्य राजनीति करकें अब तक सफल नहीं हो पाये हैं। इधर, वर्तमान सांचौर विधायक व राज्य सरकार में मंत्री सुखराम विश्रोई के पुत्र डॉ. भूपेन्द्र विश्रोई ने डॉक्टर की नौकरी छोडऩे की बात कहकर राजनीति में आने की घोषणा की हैं। यह घोषणा उन्होंने खुद सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर की। सांचौर कांग्रेस में यह दूसरा मौका हैं कि पिता विधायक होने के साथ-साथ पुत्र ने भी राजनीति में आगे का भविष्य बनाने के लिए तैयारी शुरू की हैं। इससे पहले पूर्व विधायक रहे स्व. रघुनाथ विश्रोई के पुत्र ने भी पिता विधायक होने के साथ ही सक्रियता दिखाई थी, हालांकि एक बार प्रधान जरूर बनें, लेकिन आगे की राजनीति में फिर ज्यादा सफल नजर अब तक नहीं आ पाये हैं। अब पिता विधायक होने के बाद भी डॉ. भूपेन्द्र विश्रोई ने इस राजनीतिक में आने की घोषणा कर दी हैं, लेकिन कितने सफल होते हैं, यह समय बता पायेंगा। 
लक्ष्मीचंद मेहता के निधन के बाद पुत्र की राजनीति एंट्री, चुनाव में तीसरे नंबर पर रहे 
सांचौर के दो बार विधायक रह चुके लक्ष्मीचंद मेहता का निधन होने के बाद उनके पुत्र मिलापचंद मेहता ने भी राजनीति में एंट्री की थी। 2008 के दौरान भाजपा से जीवाराम चौधरी का टिकट कटवाकर मेहता ले आए। जीवाराम चौधरी उनके सामने निर्दलीय चुनाव लड़ते हुए जीत गए, जबकि मिलापचंद मेहता तीसरे नंबर पर रहे। 
इनके बेटे भी सक्रिय रहे, लेकिन ज्यादा प्रभाव नहीं दिखा पाए 
सांचौर विधानसभा इतिहास में सबसे अधिक 5 बार विधायक रहने वाले स्व. रघुनाथ विश्रोई के पुत्र नरेन्द्र विश्रोई ने भी राजनीति में एंट्री की थी, उनको एक बार प्रधान बनने का जरूर मौका मिला था। लेकिन उसके बाद ज्यादा राजनीति में अपना प्रभाव नहीं छोड़ पाए। हीरालाल विश्रोई भी दो बार विधायक रहे। विधायक रहते उनके बेटे राजनीति में नहीं आए। उसके बाद पिता व पुत्र दोनों ने संगठन में एक साथ कार्य किया। 
कांग्रेस की सरकार के खिलाफ भी धरने पर बैठ चुके हैं डॉ. विश्रोई

bhupendra सांचौर की राजनीति में परिवारवाद का अब तक प्रभाव नहीं : तीन विधायकों के बाद अब वर्तमान विधायक के पुत्र ने भी राजनीति में आने का लिया निर्णय  jalore news

डॉ. भूपेन्द्र विश्रोई अपने पिता के विभाग के साथ-साथ राज्य में प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ भी धरने पर बैठ चुके हैं। बाड़मेर में हिरण शिकार को लेकर धरने पर बैठे थे, जबकि वन विभाग का जिम्मा उनके पिता के पास हैं। वहीं कुछ समय पहले झाब थाने के आगे भी धरने पर बैठे थे।  
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

latest news

आज 15 राज्यों में बारिश का अलर्ट

मानसून धीरे-धीरे पूर्वी और मध्य भारत के राज्यों को भिगो रहा है। यूपी, बिहार, एमपी, राजस्थान, पश्चिम बंगाल समेत देश के 15 राज्यों में...

मानसून :अगस्त खत्म होने को है सामान्य से 33% कम बारिश

अगस्त 120 साल में सबसे सूखा: सामान्य से 33% कम बारिश; सितंबर में 10 दिन तक आखिरी मानसून की बारिश होने की संभावना है अगस्त खत्म होने...

Gold Price Today अपडेटेड: 31 अगस्त 2023

Gold Price Today अपडेटेड: 31 अगस्त 2023 भारत में आज सोने की कीमतें 22k के लिए ₹ 5,431 प्रति ग्राम हैं, जबकि 24k के...

जिले में नाबालिग बच्चियों से दुराचार और उनको गर्भवती बनाने के मामले लगातार बढ़ रहे

पाली जिले में नाबालिग बच्चियों से दुराचार और उनको गर्भवती बनाने के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 15 साल की अनाथ लड़की से एक...

सांचौर का देवासी हत्याकांड • जेल में प्रकाश की साज़िश, मुकेश ने विष्णु से जुटाए शूटर, कई आरोपी हैं इसमें शामिल

25 लाख रुपए देकर हरियाणा से लाए थे शूटर, रैकी करने वाला तगसिंह गिरफ्तार, मुकेश अभी भी फरार सांचौर लक्ष्मण देवासी हत्याकांड मामले में पुलिस...

पत्नी के चरित्र पर शक बना हत्या का कारण दोनों आरोपी भाई गिरफ्तार

 पति व चचेरे भाई ने नींद की गोलियां खिलाई, तकिए से मुंह दबा की थी हत्या जालोर 05 अगस्त को बागोड़ा के धुंबड़िया गांव में...

Trending

​​​​​​ जिले में 24 घंटे से बारिश का दौर जारी

जालोर जिले में 24 घंटे से बारिश का दौर जारी है। कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश होने से शहर में कई कॉलोनियों में...

‘आदिपुरुष’ पर हाई कोर्ट ने कहा, फिल्म को पास करना गलती: कोर्ट ने कहा, झूठ के साथ कुरान पर डॉक्यूमेंट्री बनाएं, फिर देखें...

आदिपुरुष इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने बुधवार को लगातार तीसरे दिन फिल्म 'आदिपुरुष' के आपत्तिजनक डायलॉग्स पर सुनवाई की. कोर्ट ने कहा कि...
error: Content is protected !!